सच के साथ

Satellite News Channel

Wednesday, October 5, 2022
RAFTAAR MEDIA BREAKING NEWS

विवाहिता ने आंचल फैलाकर मांगी मदद, गुलाबी गैंग की महिलाओं ने किया चंदा

Must read

रितुराज राजावत, महोबा।  महोबा में पति और ससुरालजनों की प्रताड़ना झेल रही एक विवाहिता की मदद के लिए गुलाबी गैंग ने प्रदर्शन करते हुए चंदा इकट्ठा किया। पीड़िता ने गुलाबी गैंग संगठन के सामने जब मदद के लिए आँचल बढ़ाया तो सभी ने उसके लिए चन्दा इकट्ठा करना शुरु कर दिया।  हक की लड़ाई में न्याय की गुहार लगा रही विवाहिता गुलाबी गैंग का स्नेह और साथ पाकर  भीगी पलकों से शुक्रिया अदा करने लगी, तो वहीं दूसरी तरफ गुलाबी गैंग की राष्ट्रीय कमांडर संपत पाल उसकी पीड़ा से भावुक गयी।

महोबा में न्याय पाने के लिए अधिकारियों की चौखट पर चक्कर लगा रही विवाहिता को गुलाबी गैंग का साथ मिला है। गुलाबी गैंग की महिलाओं के सामने अपना आँचल फैलाकर महिला ने मदद की गुहार लगाई तो महिलाओं ने भी उसके दर्द को समझते हुए उसके आँचल में पैसा डालकर चंदा इकट्ठा करना शुरु कर दिया। एसडीएम की चौखट पर गुलाबी गैंग की महिलाओं के साथ मायूस खड़ी भटीपुरा निवासी लक्ष्मी वर्मा है। लक्ष्मी का पति जितेंद्र वर्मा किसी और युवती को लेकर फरार हो गया तो ससुरालीजनों उसे घर से ही बेदखल करने की साजिश कर डाली। पीड़िता के साथ आए दिन मारपीट होने लगी। यहीं नहीं उसके हिस्से की संपत्ति में कब्जा काट उसे बेघर तक कर दिया गया लेकिन अब पीड़ित विवाहिता की मदद के लिए गुलाबी गैंग आगे आ गई। गुलाबी गैंग की राष्ट्रीय कमांडर संपतपाल के नेतृत्व में महिलाओं ने एसडीएम की चौखट पर नारेबाजी करते हुए प्रदर्शन किया। यहीं नहीं महिला की मदद के लिए गैंग की महिलाओं ने चंदा इकट्ठा करते हुए उसकी लड़ाई लड़ने की बात कही। गुलाबी गैंग की महिलाओं का स्नेह और साथ पाकर ये बेसहारा महिला बताती है कि उसके पति ने उसे धोखा दिया है और अब वह अपने दो बच्चों की परवरिश को लेकर चिंतित है और न्याय चाहती है।

महिला को रोते देख गुलाबी गैंग की राष्ट्रीय कमांडर संपतपाल भी भावुक हो गई। उन्होंने कहा कि महिला के न्याय की लड़ाई तब तक लड़ी जाएगी जब तक उसे उसका हक नहीं मिल जाता। आज महिलाओं ने उसके लिए चन्दा किया है जरूरत पड़ी तो महिलाएं धरने पर भी बैठेगी। गुलाबी गैंग की महिलाओं ने लक्ष्मी के संघर्ष में न्याय मिलने तक लड़ाई जारी रखने की बात कही है। गुलाबी गैंग की राष्ट्रीय कमांडर संपत पाल ने शहर कोतवाली पुलिस पर भी गंभीर आरोप लगाते हुए कहा है कि शहर कोतवाली पुलिस आरोपियों का ही पक्ष ले रही है जबकि पीड़िता दाने-दाने के लिए मोहताज है और मजदूरी कर अपने दो बच्चों को पाल रही है। ऐसे में उसका अधिकार न मिलना जहां एक और कानून व्यवस्था पर सवाल खड़ा कर रहा है। वहीं महिला अधिकार की बात करने वाली सरकार की मंशा पर सवाल खड़े हो रहें है।

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest article