सच के साथ

Satellite News Channel

Friday, September 30, 2022
RAFTAAR MEDIA BREAKING NEWS

गुमला के मरचाई पाठ गांव में नहीं पहुंची है विकास की रौशनी

Must read

  • बूंद बूंद पानी के लिए तरह रहे ग्रामीणों ने किया ऐलान, पानी नहीं तो वोट नही
  • नदी, चट्टान, जंगल और पहाड़ से होकर पानी की तलाश करते हैं ग्रामीण

अजित सोनी, गुमला। गुमला में सरकार हो या प्रशासन गांव के सुदूरवर्ती  इलाके में शहर जैसी सुविधा को गांव तक पहुंचने के दावे करती है। वहीं दूसरी ओर गांव की तस्वीर सरकार और प्रसासन को मुह चिढा रही है। विकास धरातल से कोसों दूर है। गांव के लोग 21 वीं सदी में भी आदि काल मे जीने को विवश है। ऐसे में जब गांव की सरकार चुनने की बारी आती है तो ग्रामीणों ने विरोध करते हुए कहा कि पानी नहीं तो वोट नहीं।  ग्रामीण पंचायत चुनाव का बहिष्कार कर रहे हैं।

पानी की तलाश में जाते ग्रामीण

हम एक ऐसा गांव की तस्वीर को दिखा रहे। जहाँ आजादी के 72 साल बीतने के बाद भी स्थिति नहीं बदली है। आज भी ग्रामीण कल्याणकारी योजना की बाट जोह रहे हैं। हम बात कर रहे है गुमला जिले के डुमरी प्रखण्ड के करनी पंचायत स्थित मरचाई पाठ गांव की। जहां गांव में सुविधाओं का अभाव है। पीने का पानी भी नहीं है। आज भी ग्रामीण डारी और चुआ  का दुषित पानी पीने को मजबूर है। ग्रामीण पीने का पानी जुगाड़ में लगभग 4 किमी की दूरी तय कर लाते है। सड़क की बात करे तो सड़क नही है। नदी चट्टान जंगल पहाड़ से होकर पानी की जुगाड़ में जाना पड़ता है।इसके अलावे भी सरकार की कल्याणकारी योजना  का लाभ ग्रामीणों को नहीं मिला।

लंबी दूरी तय करने के बाद ऐसे मिलता है पानी का स्रोत

वहीं गांव के ग्रामीण अब आक्रोशित है। गांव के लोग सरकार और प्रशासन के खिलाफ में मोर्चा खोल दिया है। वहीं आने वाला त्रिस्तरीय  पंचायत चुनाव जहाँ जनता गांव की सरकार का  चयन करेगी। ग्रामीण पंचायत चुनाव का बहिष्कार कर सरकार और प्रशासन के विरुद्ध आंदोलन करने ने की बात कही है। ग्रामीणों ने कहा कि गांव का विकास नहीं तो वोट नहीं। ग्रामीण जनता जनप्रतिनिधि को गांव में घुसने पर भी रोक लगा दिया है। इस दौरान ग्रामीण ने कहा कि चुनाव के समय बड़े बड़े  वादे किए जाते हैं। और जीत जाने के बाद गांव के लोग किस हाल में है, कोई नहीं पूछता है।

हालांकि ग्रामीणों ने मामले को लेकर उपायुक्त सुशांत गौरभ को आवेदन सौपा है और गांव की समस्या को निपटारा करने की गुहार लगाई है। इस दौरान उपायुक्त ने भरोसा दिया है और कहा कि जांच कर हर सम्भव कोशिश की जायेगी की गांव में मूल भूत सुविधा को हर सम्भव बहाल करने की बात कही है।

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest article