अमेठी में अपराधी की 71 लाख कीमत की संपत्ति कुर्क, परिवार को घर से किया बेघर

0
61

राहुल शुक्ला, अमेठी।  उत्तर प्रदेश के अमेठी में पुलिस व प्रशासन ने गैंगस्टर एक्ट के अभियुक्त की तीन मंजिला मकान को कुर्क करते हुए उस पर ताला जड़ा है। पुलिस ने मकान में रह रहे अभियुक्त के परिजनों को बाहर निकाल दिया है। वहीं गैंगस्टर के एक अन्य अभियुक्त की पिकप गाड़ी भी पुलिस ने कुर्क कर लिया। बता दें कि बीते 17 अक्तूबर 2021 की देर शाम मुंशीगंज बाजार से बाइक से घर जा रहे मुंशीगंज थाना क्षेत्र के पश्चिम दुआरा निवासी सेवानिवृत्त फौजी संतोष सिंह की पिकप से रौंदकर हत्या कर दी गई थी। घटना के एक सप्ताह के अंदर पुलिस ने खुलासा करते हुए पश्चिम दुआरा निवासी विजय प्रताप सिंह उर्फ गल्लन सिंह व पिकप चालक भुसियावां निवासी श्याम बिहारी शुक्ल को गिरफ्तार कर जेल भेजा था। गल्लन सिंह के भाई उदय प्रताप सिंह को भी हत्याभियुक्त बनाया गया था। मामले में पुलिस की रिपोर्ट पर डीएम ने फरवरी 2022 में अभियुक्तों पर गैंगस्टर एक्ट की कार्रवाई की। जिसकी विवेचना कर रहे प्रभारी निरीक्षक गौरीगंज अंगद सिंह ने रविवार को प्रभारी निरीक्षक अमेठी उमाकांत शुक्ल व तहसीलदार अमेठी बृजमोहन व पुलिस बल के साथ अमेठी कस्बे के रायपुर फुलवारी में 126.76 वर्ग मीटर में बने अभियुक्त विजय प्रताप सिंह के तीन मंजिला मकान की कुर्की की कार्रवाई करते हुए मकान पर ताला लगाकर सीज कर दिया।

इस दौरान विजय प्रताप की पत्नी सुधा सिंह व उनके बच्चों ने मकान को अपना बताते हुए कुर्क न करने का अनुरोध किया। प्रभारी निरीक्षक अंगद सिंह ने बताया कि लगभग 92 लाख कीमत के मकान व ट्रक को कुर्क करने के डीएम के आदेश के अनुपालन में कार्रवाई की गई है। गैंगस्टर के दूसरे अभियुक्त श्याम बिहारी शुक्ल की 3.95 लाख कीमत की पिकप भी कुर्क की गई है।

पत्नी का कहना 12 सालों से पति से नहीं संबंध

वहीं इस मामले में पीड़िता सुधा सिंह बताती हैं कि ये जो आज हमारे घर पर कुर्की की गई है ये सरासर गलत है। ये हमारे साथ अन्याय हो रहा है। मेरे पति से मेरी 2010 से बनती नहीं है। मैं यहां अकेली अपने बच्चो को लेकर रह रही हूं। मैं पीडब्ल्यूडी के आरएस की ठेके की ठेकेदार हूं। ये सब ईमानदारी की कमाई से बनाया है लेकिन ये सब देखिए किये है। मेरी कही सुनवाई भी नहीं हो रही है। मैं मुख्यमंत्री जी के पास गई थी। उन्होंने कहा था कि आपको समय दिया जाएगा आपका मकान सीज नहीं होगा, आपकी बिटिया का एग्जाम चल रहा है। लेकिन कहीं कुछ सुनवाई नहीं हुई। ये मेरा मकान लीगल है। अब देखिए ये सीज करके चले गये है।

डीएम से करेंगे शिकायत

मेरी बेटी का हाईस्कूल का बीएससी का एग्जाम है। अब हम जिलाधिकारी के पास जाएगे उनसे रिक्वेस्ट करेंगे। इसमे बड़े – बड़े नेता के हाथ इसलिए मेरी कही कोई सुनवाई नहीं हो रही है। मैने मुख्यमंत्री को भी अप्लिकेशन दिया था लेकिन वहा पर भी कोई सुनवाई नही हुई। प्रशासन ने मेरे साथ बहुत गलत किया है। यहां मैं अपने दो बेटी और एक बेटे के साथ रहती हूं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here