सच के साथ

Satellite News Channel

Friday, September 30, 2022
RAFTAAR MEDIA BREAKING NEWS

जमालपुर में जेई की परीक्षा रद्द करने की मांग को लेकर मोर्चा ने जीएम व सीडब्ल्यूएम  का पुतला फूंका

Must read

लालमोहन महाराज, मुंगेर। मुंगेर जिला के जमालपुर में अवस्थित रेल इंजन कारखाना में विभागीय पदोन्नति को लेकर ली गई जेई की परीक्षा में उत्पन्न गतिरोध सुलझने के बजाय उलझता जा रहा है। एक तरफ अधिकारी जहां गुप्त तरीके से परिणाम निकालने की तैयारी कर रहा है, वहीं दूसरी ओर यूनियन खामोश है। लेकिन जमालपुर रेल कारखाना के विकास के लिए प्रतिबद्ध जमालपुर रेल निर्माण कारखाना संघर्ष मोर्चा इसे रद्द करने की मांग पर अड़े हुए है। यह बातें संघर्ष मोर्चा के युवा नेता ने पुतला दहन करने के दौरान पत्रकारों से कही।

संघर्ष मोर्चा की युवा टीम ने युवा नेता मनोज क्रांति के नेतृत्व में पूर्व रेलवे के महाप्रबंधक और जमालपुर रेल कारखाना के सीडब्ल्यूएम का पुतला जुबली  कुआँ चौक पर फूंक कर  मोर्चा द्वारा आंदोलन तेज करने का स्पष्ट संकेत दिया है। मोर्चा कार्यकर्ताओं ने जमालपुर जुबली बेल पर सोमवार को रेलवे के महाप्रबंधक अरुण अरोड़ा एंव सीडब्लूएम एस विजय का पुतला दहन किया और जमकर नारेबाजी की। इस दौरान आन्दोलनकारी जमालपुर कारखाना के भविष्य के साथ खिलवाड़ करना बंद करो, जीएम हाय हाय, सीडब्लूएम मुर्दाबाद, जे ई की परीक्षा में की गई धांधली की जांच कराओ, जेई परीक्षा रद्द करो जैसे नारे लगाए।

इस दौरान मोर्चा के युवा नेता मनोज क्रांति ने कहा कि जमालपुर कारखाना में पदस्थापित अधिकारी जमालपुर कारखाना को भारतीय रेल में बदनाम करने की मंशा से  दीमक की तरह चाट रहे हैं । एन आई,गोल्फ के नाम पर लूट, जेएसए  निर्माण मे लूट तो जारी ही है, लेकिन हद तो तब हो गई जब विभागीय पदोन्नति के लिए ली गई  जे ई की परीक्षा में अभ्यर्थियों से लाखों रुपए लेकर सेटिंग की गई जो योग्य अभ्यर्थियों के साथ धोखा है। मोर्चा इसे कतई बर्दाश्त नहीं करेगी और अपने नेता के नेतृत्व मे आन्दोलन तेज करेगी। मौके पर कुमार प्रभाकर हिमांशु यादव, शंभू शंकर,गौरव यादव, गुंजन यादव, संतोष रावत सहित अन्य थे।

जांच की आंच में झुलसेगे कई अधिकारियों के घर-पप्पू

जेई परीक्षा को रद्द करने की मांग को लेकर अड़े जमालपुर रेल निर्माण कारखाना संघर्ष मोर्चा के संयोजक समाजवादी पार्टी के जिला अध्यक्ष पप्पू यादव ने कहा कि  जेई परीक्षा में ओ मार्कशीट की जगह एबीसीडी के तर्ज पर ली गई और मूल्यांकन में ज्यादातर सी आंसर के साथ छेड़छाड़ की गई है। चर्चाएं आम है कि विभागीय पदोन्नति के लिए ली गई जेई की परीक्षा में भ्रष्ट अधिकारियों के सिंडिकेट ने इसमें शामिल अभ्यर्थियों से सेटिंग गेटिंग के तहत करोड़ों रुपए नजराना प्राप्त किया है। कारखाना के दो प्रमुख शॉप के फोरमैन द्वारा पदाधिकारियों के घर तक नजराने की राशि पहुंचाई जाएगी। यादव ने आगे कहा कि पूर्व रेलवे के महाप्रबंधक जो भ्रष्ट अधिकारियों पर नकेल कसने का दम भरते हैं, अगर इमानदारीपूर्वक जांच करवाते  हैं तो निश्चित तौर पर जांच की आंच  अधिकारियों के घर तक पहुंचेगी और इसमें कई लोग झुलसेंगे।

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest article