श्रमिकों के कल्याण के लिए कटिबद्ध हैं मोदी सरकार : अरविन्द सिंह

0
141

पटना, 9 मई : भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता अरविन्द कुमार सिंह ने कहा है कि मा प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी एवं मा श्रम मंत्री श्री भूपेन्द्र यादव जी के नेतृत्व में देश में हो रहा है श्रमिकों का कल्याण।  ई-श्रम पोर्टल पर 27.37 करोड़ से अधिक श्रमिक पंजीकरण करा चुके हैं, जिसमें से 52.79% महिला श्रमिक हैं। सभी पंजीकृत श्रमिकों को आसानी से मिल रहा है विभिन्न सरकारी योजनाओं का लाभ। असंगठित क्षेत्र में श्रमिकों के भविष्य को सुरक्षित करते हुए, प्रधानमंत्री श्रमयोगी मानधन योजना ने वृद्धावस्था में श्रमिकों को 3,000 रुपये की मासिक पेंशन सुनिश्चित कर रही है अब तक 56.5 लाख श्रमिकों ने पंजीकरण कराया हैं।

श्री अरविन्द ने कहा है कि प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना दशकों से विकास की मुख्यधारा से वंचित असंगठित क्षेत्र में कार्यरत देश के गरीब श्रमिकों के प्रति मोदी सरकार की संवेदनशीलता की परिचायक है। इस योजना में सरकार और लाभार्थी की सहभागिता से श्रमिकों को 60 वर्ष की आयु के बाद Rs.3000 रुपए तक का मासिक पेंशन मिल रही है।

प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना से सुरक्षित हो रहा है असंगठित क्षेत्र के कामगारों का भविष्य। साथ ही सवैतनिक मातृत्व अवकाश 12 से बढ़ाकर 26 सप्ताह किया गया है। ग्रेच्युटी की अधिकतम सीमा 10 लाख रुपये से बढ़ाकर 20 लाख रुपये की गई है। बोनस भुगतान अधिनियम में संशोधन कर बोनस का भुगतान 10,000 से बढ़ाकर 20,000 प्रति माह किया गया साथ ही गणना की सीमा को 3,500 रुपये से संशोधित कर 7,000 रुपये प्रति माह किया गया। असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों के लिए सबसे बड़ी सामाजिक सुरक्षा योजनाओं से करोड़ों श्रमयोगी लाभान्वित हो रहे हैं।

 देश के करोड़ों श्रमिकों और कामगारों का सामर्थ्य आज नए भारत का आधारस्तंभ बन रहा है। उनकी सामाजिक सुरक्षा में ही देश का मज़बूत भविष्य छिपा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here