सहरसा रात के 8 बजे पहुंचती घर पर बेटी के शादी के लिए बारात , 3 बजे दोपहर में पूजा के विधि विधान में शामिल होने की दौरान मां को लगी बिजली का करंट , हुई मौत

0
84

  • शिक्षक दमाद देखने की आस रह गई अधूरी
  • मां की मौत से पुत्री की शादी हो गया कैंसिल

रात के 8 बजे जिस घर पर बेटी की शादी के लिए बारात पहुंचने वाली थी। वही दोपहर के 3 बजे आंगन में लगे चापाकल पर बिजली के करंट लगने से मां की दर्दनाक मौत हो गई। ऐसे में परिजन द्वारा शादी के लिए सजाए जा रहे मडवा के कार्य को रोक दिया गया। वही आंगन में गूंज रही परिजनों की किलकारी चीख-पुकार में तब्दील हो गई। कुछ देर पूर्व लाउडस्पीकर पर शादी के बज रहे गीत बंद हो गए। वही बारात की स्वागत के लिए लगाए व सजाए जा टेंट भी रुक गया। जबकि बारात-सरात में शामिल होने वाले सैकड़ों लोगों के भोजन को तैयार कर रहे हलवाई भी भोजन बनाना बंद कर दिया गया। एकाएक बंद घड़ी की सुई की तरह शादी की सभी कार्य रुक गए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here