शिक्षा पदाधिकारी ने श्रमिको को बेहतर जीवन जीने का गुर सीखाया

अनावश्यक खर्चो से बचने की सलाह दी

बचत को समृद्धि बताया

बचत के प्रकार की विवेचना की

परिवार, समाज और राष्ट्र के प्रति दायित्वों पर किया फोकस

कार्यशाला में उमड़ी कामगारों की भीड़

एस पी श्रीवास्तव
प o चम्पारण,बेतिया।शुगर इंडस्ट्रीज मझौलिया के सभागार में सम्पन्न एक कार्यशाला में नेशनल बोर्ड फ़ॉर वर्कर्स एजुकेशन एंड डेवलपमेंट के शिक्षा पदाधिकारी दिलीप कुमार सत्पथी ने कामगारों व कर्मचारियों को बेहतर जीवन जीने का प्रशिक्षण दिया।आदत में सुधार लाने,किसी कार्य को करने के पहले योजना बनाने, व्यक्तिगत जीवन, संस्थान, समाज, परिवार तथा राष्ट्र के प्रति कर्तव्यों का कैसे निर्वहन किया जाये, इस पर फोकस किया।प्रोजेक्टर के माध्यम से एक एक कर उन्होंने शिक्षा, पर्यावरण, और अनुभव का विश्लेशण किया।बचत को समृद्धि2 बताया तथा कहा कि व्यक्ति को अनावश्यक खर्चो से बचना चाहिये।तीन घंटो तक चले कार्यशाला में उन्होंने अपने अनुभवों को साझा किया।समारोह की अध्यक्षता कारखाना प्रवंधक सह शुगर इंडस्ट्रीज के महाप्रवंधक यांत्रिकी संतोष कुमार ने किया।उन्होंने इस अवसर पर कहा कि समय पालन, कड़ी मेहनत और पक्का इरादा किसी भी कामगार को आगे बढ़ने के लिए जरूरी होता है।बस आदमी में जुनून होना चाहिये।मौके पर जीएम प्रोडक्शन सर्वेश कुमार दुबे, अमित कुमार,अभियंता के के ठाकुर, आर सी त्रिपाठी, एस एन मिश्रा, कृष्णा कुमार, मनोज कुमार मिश्र विजय कुमार पांडेय, दिनेश कुमार कुशवाहा श्रेयांश त्तिवारी दीपक ओझा, निरंजन कुमार वर्मा, बाबूलाल ठाकुर आदि मुख्य रूप से उपस्थित रहे।समारोह का संचालन फैक्ट्री के सेफ्टी ऑफिसर अनुपम कश्यप ने तथा धन्यबाद ज्ञापन ऑफिसर टाइम ऑफिस सत्येन्द्र श्रीवास्तव ने किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here