सच के साथ

Satellite News Channel

Friday, September 30, 2022
RAFTAAR MEDIA BREAKING NEWS

सात दशक बाद चीतों की वापसी, कूनो नेशनल पार्क बना आशियाना

Must read

पूरे सात दशक बाद चीतों की भारत में वापसी हो गई है। ये सभी आठ चीते नामीबिया से मध्य प्रदेश के श्योपुर जिले के कूनो नेशनल पार्क में लाए गए हैं। बताया जाता है कि चीते इंसानों पर हमला नहीं करते, चीते कैट प्रजाति के जानवर हैं और ये ना तो दहाड़ सकते हैं और ना ही रात में शिकार कर सकते। बता दें कि भारत में चीते 1952 में विलुप्त हो गए थे।अब उन्हें दोबारा बसाया जा रहा है। चीता बिल्ली की तरह म्याऊं-म्याऊं की आवाज करते हैं। चीते की खासियत है कि यह सबसे तेज दौड़ने वाला जानवर है। बहुत तेजी से दौड़ने के बावजूद भी चीते 300 मीटर से ज्यादा दूरी तक नहीं दौड़ सकता। अधिकांशतया दिन के समय में चीते अपने शिकार को घेर कर मारते हैं। चीता के शरीर पर  चित्तीदार निशान होते हैं जो इसकी पहचान है। मादा चीता झुंड से हटकर अकेला पहना पंसद करती है, जबकि नर चीते झुंड में रहते हैं। शावकों को मादा चीता अकेले पालती है, उन्हें दिन में मांद में छिपाती है और जैसे-जैसे वे बड़े होते हैं, उन्हें अपना शिकार करना सिखाती है।  

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest article